Monday, June 10, 2024
More

    Doctor Kaise Bane? डॉक्टर की परीक्षा, फीस व समस्त जानकारी

    कई लोगों को अपना करियर मेडिकल फील्ड में बनाना होता है ऐसे में Doctor kaise bane यही प्रश्न हर बायोलॉजी स्टूडेंट की जुबान पर होता है। तो चलिए इस लेख में डॉक्टर कैसे बना जाए इस महत्पूर्ण बिंदु पर प्रकाश डालते हैं।

    जब भी कोई महामारी आई है तब हमे डॉक्टर्स की खास भूमिका के बारे में पता चला है। आजकल के बदलते समय में जहाँ किसी फील्ड में नौकरियां या काम कम हो गए हैं तो किसी में ज्यादा लेकिन डॉक्टरी ही एक ऐसा पेशा है जिसकी जरुरत आज से हजारो वर्ष पहले भी लोगों को पड़ती थी और आज से हजारो वर्ष बाद भी पड़ेगी।

    ऐसे में सभी के मन में यह सवाल उठता है कि आखिर डॉक्टर बनने के लिए क्या करना पड़ता है या डॉक्टर कैसे बने। यदि आप भी इसी उलझन में है कि डॉक्टर बनने के लिए क्या किया जाए और उसके लिए किन-किन बातों का ध्यान रखना जरुरी है तो आज हम आपको डॉक्टर बनने के ऊपर संपूर्ण जानकारी देंगे। आइए जानते हैं कि आखिरकार डॉक्टर बनने के लिए आपको क्या-क्या करना पड़ेगा।

     

    डॉक्टर बनने के लिए क्या चाहिए | Doctor Kaise Bane

    डॉक्टर बनने के लिए आपको दसवीं के बाद से ही तैयारी शुरू कर देनी चाहिए और साथ ही एक अच्छा बजट बनाकर चलना चाहिए क्योंकि इसमें लगने वाला पैसा किसी अन्य डिग्री में लगने वाले पैसे से कुछ ज्यादा होता है। ऐसे में आपको डॉक्टर बनने के लिए जिन चीज़ों का ध्यान रखना चाहिए, वे हैं:

     

    1. दसवीं के बाद चुने मेडिकल स्ट्रीम | Choose Medical Stream After 10th

    दसवीं के बाद हमारे पास मुख्यतया 4 विकल्प होते हैं: नॉन मेडिकल, मेडिकल, कॉमर्स व आर्ट्स। इसमें साइंस स्ट्रीम लेने पर सभी विषय समान होते हैं बस दो विषय में से चुनाव कर सकते हैं और वे हैं गणित या बायोलॉजी। जहाँ एक ओर नॉन मेडिकल में गणित विषय पढ़ाया जाता है तो वहीं मेडिकल में गणित की बजाए बायोलॉजी पढ़ाया जाता है।

    आप चाहे तो नॉन मेडिकल भी ले सकते हैं और एक्स्ट्रा विषय के रूप में बायोलॉजी चुन सकते हैं या फिर मेडिकल लेकर एक्स्ट्रा विषय के रूप में गणित भी चुना जा सकता है लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि डॉक्टर बनने के लिए आपके पास 11वीं और 12वीं में बायोलॉजी विषय अवश्य होना चाहिए।

     

    2. बारहवीं में लाये न्यूनतम 50 प्रतिशक नंबर | Doctor Kaise Bane

    यदि आपको डॉक्टर बनने के लिए प्रवेश परीक्षाओं में बैठना हैं तो आपको बारहवीं में फिजिक्स, केमिस्ट्री व बायोलॉजी में न्यूनतम 50 प्रतिशत अंक लाने होंगे अन्यथा आप किसी भी सरकारी मेडिकल परीक्षा में नही बैठ पाएंगे। इसलिए आप इस बात से उलझन में मत रह जाना कि बारहवीं में आपने 50 प्रतिशत से ऊपर नंबर ले आये तो हो गया काम, फिर से ध्यान दे कि आपको बारहवीं में सभी विषय में मिलाकर 50 प्रतिशत से ज्यादा नही बल्कि PCB इन तीन मुख्य विषयों में 50 प्रतिशत से ज्यादा नंबर लेकर आने होंगे।

     

    3. दिल हो मजबूत | Doctor Banne Ke Liye Yogyta

    यदि आपका दिल कच्चा है या आप किसी को बीमार देखकर या खून देखकर घबरा जाते हैं या मन बैचैन हो जाता है तो आपको फिर से सोचने की जरुरत है। डॉक्टर वह होता है जो अपने मरीज की किसी भी हालत को देखकर भी व्यथित ना हो और कड़े दिल के साथ उसका ईलाज करे।

    ऐसे में यदि आपके पास कोई मरीज लहूलुहान अवस्था में आएगा और आपके हाथ उसे देखकर कांपने लग जाएंगे तो आप उसका उपचार कैसे कर पाएंगे। इसलिए डॉक्टर बनने से पहले अपना दिल मजबूत बनायें।

     

    4. बजट हो सही | Doctor Banne Ki Fees

    एक ओर जहाँ कुछ डिग्री को छोड़ दिया जाये तो सामान्यतया हर डिग्री को करने में 10 हज़ार से लेकर 4-5 लाख ही लगते हैं और उसमे भी बीटेक ही थोड़ी महँगी होती है जिसमे 4-5 लाख लग जाते हैं। यदि बीटेक भी किसी सामान्य कॉलेज या सरकारी कॉलेज से की जाए तो इसमें भी 1 से 2 लाख ही लगेंगे लेकिन डॉक्टर की डिग्री लेना इतना आसान नही होता है।

    इसमें यदि आपका सरकारी कॉलेज में एडमिशन हो गया तो भी आपके 10 लाख से लेकर 50 लाख लग जाएंगे और यदि सरकारी में एडमिशन नही होता है तो प्राइवेट मेडिकल कॉलेज की फीस तो 1 करोड़ के पास पहुँच जाती है। इसलिए पहले से ही अपना बजट बनाकर चलें।

     

    5. तैयारी पहले से ही हो मजबूत | Doctor Ki Padhai

    यदि आप चाहते हैं कि आपका बारहवीं के बाद नीट की परीक्षा में सिलेक्शन हो जाए तो इसके लिए आपको दसवीं के बाद से ही तैयारी शुरू कर देनी चाहिए। हर वर्ष लाखों की संख्या में छात्र नीट की परीक्षा देते हैं और उसमे से कुछ हज़ार बच्चे ही चुने जाते हैं, ऐसे में आपकी तैयारी ही कच्ची-पक्की होगी तो इसकी संभावना ना के बराबर होगी कि आपका पहली बारी में ही सिलेक्शन हो जाए।

    इसके लिए आप दसवीं के बाद से ही मेडिकल की कोचिंग लेना शुरू कर दें और जमकर पसीना बहाएं क्योंकि नीट में सिलेक्शन करवाना अत्यंत कठिन होता है। यह भारत की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक मानी जाती है। आप चाहें तो मेडिकल की तैयारी के लिए प्रसिद्ध शहर कोटा जाकर भी कोचिंग ले सकते हैं या फिर अपने शहर के किसी प्रसिद्ध कोचिंग इंस्टिट्यूट के साथ जुड़ सकते हैं।

     

    डॉक्टर कैसे बने | Doctor Kaise Bane

    Doctor kaise bane

    अब बात करते हैं डॉक्टर बनने के लिए कॉलेज में एडमिशन लेने की। इसके लिए आपको भारत सरकार द्वारा आयोजित NEET की परीक्षा देनी होगी जिसके द्वारा भारत के सभी सरकारी मेडिकल कॉलेज में एडमिशन लिया जाता है। नीट की फुल फॉर्म नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (National Eligibility cum Entrance Test) है। हिंदी में इसे राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा कहा जाता है।

    पहले भारत सरकार के द्वारा मेडिकल कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए नीट के अलावा AIIMS व NEET MDS का टेस्ट भी अलग से लिया जाता था लेकिन अब सभी को नीट में ही मिला दिया है। अब चाहे आपको किसी भी सरकारी मेडिकल कॉलेज में प्रवेश लेना हो, इसके लिए आपको बस एक ही प्रवेश परीक्षा देनी होगी और वो होगी नीट। तो चलिए अब नीट प्रवेश परीक्षा के बारे में भी कुछ जान लिया जाए।

     

    नीट क्या है | NEET Kya Hai

    नीट एक सरकारी परीक्षा है जो भारतीय मेडिकल एसोसिएशन के द्वारा सरकारी मेडिकल कॉलेज में छात्रों के प्रवेश के लिए आयोजित की जाती है। यह केंद्र सरकार के द्वारा आल इंडिया लेवल पर आधारित प्रवेश परीक्षा है जिसमें राज्य अनुसार अलग-अलग कोटा निर्धारित होता है। आइए नीट के बारे में जाने सबकुछ।

    1. नीट की परीक्षा देने के लिए आपकी न्यूतमम आयु 17 वर्ष होनी चाहिए।

    2. नीट का फॉर्म जनरल व OBC के लिए 1600 रुपए में, General EWS व OBC NCL के लिए 1500 रुपए में व SC, ST, PH के छात्रों के लिए 900 रुपए का होता है।

    3. नीट में आपको कुल 3 विषयों पर प्रश्न पूछे जाएंगे जो हैं फिजिक्स, केमिस्ट्री व बायोलॉजी। इसमें बायोलॉजी को दो भागों में बाँट दिया जाता है जो botany व zoology हैं।

    4. इसमें फिजिक्स से 45 प्रश्न व केमिस्ट्री से 45 प्रश्न आएंगे जबकि बायोलॉजी के दोनों भागों से 45-45 प्रश्न पूछे जाएंगे।

    5. नीट का एग्जाम 720 अंकों का होता है जिसमे से प्रतेक सही उत्तर के लिए 4 अंक दिए जाएंगे और प्रत्येक गलत उत्तर के लिए एक अंक काट दिया जाएगा। इस तरह आपके नीट में -180 से लेकर +720 अंक तक आ सकते हैं।

    6. हालाँकि बारहवीं में PCB में न्यूनतम 50 प्रतिशक अंक लाने का क्राइटेरिया केवल जनरल केटेगरी के बच्चों के लिए ही है जबकि OBC, SC ST समुदाय के बच्चों के लिए न्यूनतम अंक 40 प्रतिशत हैं।

    7. नीट की परीक्षा देने के लिए कोई सीमित पैमाना नही है अर्थात आप कितनी भी बार नीट परीक्षा दे सकते हैं।

     

    मेडिकल कॉलेज में प्रवेश कैसे लें | Medical College Me Admission Kaise Le

    अब बात करते हैं सरकारी कॉलेज में प्रवेश लेने की तो यह पूरी तरह से आपके द्वारा दी गयी नीट की परीक्षा पर निर्भर करेगा और आप उसमे कितने अंक लेकर आये हैं, इसी आधार पर तय होगा कि आपको सरकारी कॉलेज में प्रवेश मिलेगा या नही और मिलेगा तो आखिर किस कॉलेज में और किस कोर्स में होगा।

    नीट के अंतर्गत आप इन medical course के लिए अप्लाई कर सकते हैं:

    • एमबीबीएस- बैचलर ऑफ मेडिसिन, बैचलर ऑफ सर्जरी
    • बीडीएस- बैचलर ऑफ डेंटल सर्जरी
    • बीएचएमएस- बैचलर ऑफ होम्योपैथिक मेडिसिन एंड सर्जरी
    • बीएएमएस- बैचलर ऑफ आयुर्वेदिक मेडिसिन एंड सर्जरी
    • बीएसएमएस- बैचलर ऑफ सिद्धा मेडिसिन एंड सर्जरी
    • बीयूएमएस- बैचलर ऑफ यूनानी मेडिसिन एंड सर्जरी
    • बीवीएससी एंड एएच- बैचलर ऑफ वेटरनरी साइंसेज एंड एनिमल हस्बैंड्री

    ज्यादातर लोग MBBS के लिए ही आवेदन करते हैं लेकिन यह पूर्णतया आपके द्वारा लाये गए अंकों पर ही निर्भर करेगा। नीट में आपके जैसे भी नंबर आएंगे उसी के अनुसार आपको काउन्सलिंग के लिए बुलाया जाएगा। उसके बाद आपका इंटरव्यू लिया जाएगा तथा सभी में मिलने वाले नंबर को जोड़कर आपको उक्त कॉलेज व उक्त कोर्स में प्रवेश दे दिया जाएगा।

    यदि आपको निर्धारित कॉलेज या कोर्स में एडमिशन नही मिलता है तो यह आप पर निर्भर करता है कि आप प्राइवेट कॉलेज में जाना चाहते हैं या फिर एक साल और मेहनत कर फिर से नीट परीक्षा देना चाहते हैं।

     

    MBBS कैसे करे | MBBS Doctor Kaise Bane

    यदि आपको MBBS में प्रवेश मिल जाता है तो इसके लिए आपको अपने 5.5 वर्ष देने होंगे। इसमें आपको शुरूआती 4.5 वर्ष तो कॉलेज में रहकर डॉक्टर की पढ़ाई करनी होगी और फिर अंतिम एक वर्ष आपकी इंटर्नशिप के लिए होगा। ध्यान रखें डॉक्टर एक ऐसा कार्य होता है जिसमे आपको पूरा जांच परख कर ही काम पर रखा जाता है और डिग्री दी जाती है क्योंकि आपके ऊपर कई जिंदगियां निर्भर करती हैं।

    ऐसे में आपकी पढ़ाई समाप्त होने के बाद एक वर्ष के लिए किसी हॉस्पिटल में बतौर इंटर्नशिप काम करवाया जाता है जिसमे आपको एक अनुभवी डॉक्टर के अंतर्गत रहकर काम करना पड़ता है या यूँ कहे कि अपनी पढ़ाई का सारा ज्ञान वहां लगाना होता है। जब आप अपनी इंटर्नशिप पूरी कर लेंगे तब आपको MBBS की डिग्री दे दी जाएगी। अब आप किसी हॉस्पिटल में काम करना शुरू कर सकते हैं या फिर खुद का भी एक क्लिनिक खोल सकते हैं।

     

    डॉक्टर बनने के बाद क्या करे | PG Ke Baad Doctor Kaise Bane

    Doctor MD kaise bane

    आज के समय में जब बीमारियाँ इतनी ज्यादा बढ़ गयी हैं और वो भी कई तरह की तो ऐसे में केवल MBBS की डिग्री से ही काम नही चलता। इसके लिए आपका किसी में स्पेशलिटी होना भी आवश्यक है। तो इसके लिए आपको MBBS करने के पश्चात किसी विषय में पोस्ट ग्रेजुएशन (PG) या स्पेशल डिग्री भी प्राप्त करनी होगी जैसे कि MD, Surgeon इत्यादि।

    इसके साथ ही जब आपको MD की उपाधि मिल जाये तब आप भारत के किसी भी अस्पताल में डॉक्टर की पोस्ट पर लगने के लिए आवेदन कर सकते हैं। आप चाहे तो खुद का एक क्लिनिक भी खोल सकते हैं और लोगों की साधारण बिमारियों का ईलाज कर सकते हैं।

     

    यह भी पढ़िए: MD क्या होता है? जानिए MD कैसे बने, परीक्षा, योग्यता व अन्य जानकारी

     

    MBBS के अलावा अन्य डॉक्टर कैसे बने | Ayurvedic Doctor Kaise Bane

    यदि आपको MBBS नही करनी हैं और किसी अन्य फील्ड में डॉक्टर बनना है तो भी इसके लिए नीट की परीक्षा ही देनी होगी क्योंकि इसी में डॉक्टर बनने के लिए अलग-अलग कोर्स के विकल्प दिए जाते हैं। जैसे कि यदि आपको आयुर्वेदिक डॉक्टर बनना है तो इसके लिए आपको नीट के अंतर्गत बीएएमएस (BAMS) की डिग्री करनी होगी जिसकी अवधि 5.5 वर्ष की ही होती है। इसमें MBBS की ही भांति 4.5 वर्ष के लिए पढ़ाई और 1 वर्ष के लिए इंटर्नशिप होगी।

    यदि आप डेंटिस्ट बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको नीट के ही तहत बीडीएस (BDS) की डिग्री करनी होगी जिसकी अवधि 5 वर्ष की होती है। इसमें 4 साल की पढ़ाई और 1 साल की इंटर्नशिप होती है। उसी तरह होम्योपैथिक डॉक्टर बनने के लिए बीएचएमएस (BHMS) की डिग्री लेनी होगी जो कि MBBS व BAMS की भांति 5.5 वर्ष की है।

    ठीक उसी प्रकार अन्य फील्ड में डॉक्टर बनने के लिए नीट में कई तरह के विकल्प दिए जाते हैं लेकिन यह संपूर्णतया आपके द्वारा स्कोर किए गए अंकों पर ही निर्धारित करेगा कि आपको किस डिग्री में एडमिशन मिलेगा।

     

    वीडियो से जानें डॉक्टर बनने की पूरी प्रक्रिया | Doctor Kaise Bane Video

     

     

    तो दोस्तों ये थी डॉक्टर बनने से जुड़ी कुछ महत्पूर्ण जानकारी। हम आशा करते हैं कि आप doctor kaise bane यह समझ गए होंगे। अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूलें और हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करें ताकि आपको ऐसी ही जानकारी मिलती रहे।

    हमसे जुड़े रहने के लिए सबसे नीचे दिए हमारे Email letter को फ्री में subscribe करें जिससे कि आप अन्य खबरों का लुफ्त भी उठा पाएं।

    Related articles

    Comments

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Newsletter

    Subscribe to stay updated.

    Popular articles

    Share article