Sunday, May 26, 2024
More

    सॉफ्टवेयर इंजीनियर बनना है? जानिए Software Engineer Kaise Bane

    आखिर Software Engineer Kaise Bane यही आपकी उलझन है? तो सुनिए हमारी बात..

    आज की टेक्नोलॉजी में जिस नौकरी की सबसे ज्यादा डिमांड है वह है सॉफ्टवेर इंजीनियरिंग। चाहे कोई भी कंपनी हो, उस कंपनी की वेबसाइट, ऐप या कोई अन्य तकनीक इत्यादि को संभालने के लिए software engineer की जरुरत पड़ती है।

    आज के समय में जब सबकुछ Digital हो रहा है तो सॉफ्टवेर इंजीनियरिंग की इंडस्ट्री में बूम सा आ गया है। कंपनियां अब अच्छे सॉफ्टवेयर इंजिनियर को मुहं माँगा पैसा देने को तैयार रहती है। साथ ही इस नौकरी में विदेश में काम करने का भी अद्भुत अवसर मिलता है।

    तो यदि आप भी इसी दुविधा में हैं कि आखिरकार सॉफ्टवेर इंजिनियर कैसे बने या software engineering कैसे होती है तो आज हम आपको सॉफ्टवेयर इंजिनियर बनने के बारे में A टू Z संपूर्ण जानकारी देंगे।

     

    सॉफ्टवेर इंजिनियर कैसे बने | Software Engineer Kaise Bane

    सॉफ्टवेर इंजिनियर बनने के लिए आपको दसवीं से ही तैयारी शुरू कर देनी चाहिए और फिर उसके बाद step by step आगे बढ़ना चाहिए। आइए एक-एक करके जानते हैं।

     

    1. दसवीं के बाद PCM विषय चुनें | Software Engineering Ke Liye Subjects

    ज्यादातर विद्यार्थी जिन्होंने अपनी 11वीं और 12वीं नॉन मेडिकल विषय यानी गणित विषय में की है उनकी सॉफ्टवेर इंजिनियर बनने की संभावनाएं ज्यादा होती हैं। यदि आप भी नॉन मेडिकल सब्जेक्ट्स (Physics, Chemistry और Math) के साथ कंप्यूटर कोर्स ले लेंगे तो ज्यादा सही रहेगा। इसके अलावा आप कॉमर्स या आर्ट्स लेकर भी कंप्यूटर कोर्स को चुन सकते हैं।

    नॉन मेडिकल इसलिए आपकी मदद करेगी क्योंकि कंप्यूटर इंजिनियर बनने के लिए जो सरकारी और विभिन्न संस्थानों के द्वारा प्रवेश परीक्षा आयोजित करवाई जाती हैं उसमे मुख्यतः फिजिक्स, केमिस्ट्री व मैथ से जुड़े प्रश्न पूछे जाते हैं।

     

    2. प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सीखें | Learn Programming

    कंप्यूटर इंजिनियर बनने के लिए यह आवश्यक है कि आपकी इन तकनीकी भाषाओँ में अच्छी पकड़ हो। इसलिए शुरूआती तौर पर आप C, C++, Java जैसी भाषाओँ के बेसिक कोर्स कर अपने आपको सॉफ्टवेर इंजिनियर बनने के लिए एक कदम आगे बढ़ा सकते हैं।

    साथ ही स्कूल में रहकर ही प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के बारे में पढ़ने से आपको भी यह बेहतर तरीके से जानने में मदद मिलेगी कि क्या आपकी वाकई में कंप्यूटर इंजिनियर बनने में रुचि हैं और क्या आप इसमें बेहतर कर सकते हैं।

     

    3. प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी करें | Software Engineer Kaise Bane

    बारहवीं के बाद आपको कंप्यूटर इंजीनियरिंग के कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए कई तरह की प्रवेश परीक्षाएं देनी होंगी। इसलिए यदि आप इसके लिए पहले से ही खुद को तैयार कर लेंगे तो बहुत बेहतर रहेगा। इसके लिए या तो आप अपने शहर के किसी बढ़िया से इंस्टिट्यूट से जुड़ सकते हैं जो आईआईटी जैसी परीक्षाओं की तैयारी करवाता है या फिर आप किसी दूसरे शहर में इसकी तैयारी कर सकते हैं।

    इंजीनियरिंग की परीक्षाओं में तैयारी करने के लिए भारत का सबसे प्रसिद्ध शहर कोटा है जो राजस्थान राज्य में हैं। इसके अलावा आप दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, बैंगलोर इत्यादि जैसे कई शहरों से अपनी सुविधानुसार तैयारी कर सकते हैं।

     

    4. बारहवीं के साथ एंट्रेंस परीक्षाएं दें | Software Engineering Ki Exam

    अब जब आपने बारहवीं अच्छे नंबर से पास कर ली तब आप कंप्यूटर इंजीनियरिंग का कोर्स करने के लिए सरकार द्वारा आयोजित आईआईटी की परीक्षा दे सकते हैं। इसके लिए केवल आईआईटी ही नही बल्कि कई अन्य परीक्षाएं भी होती हैं लेकिन आईआईटी को इंजीनियरिंग के क्षेत्र में सर्वोच्च संस्थान का दर्जा हासिल है।

    यदि आपका आईआईटी में सिलेक्शन हो जाता है तो यह सबसे बढ़िया बात होगी। अन्यथा आप किसी अन्य प्रवेश परीक्षा को भी दे सकते हैं। कई अच्छे निजी कॉलेज के द्वारा उनकी खुद की परीक्षाएं आयोजित करवाई जाती हैं जैसे कि बिट्स पिलानी, Vit वेल्लोर आदि।

    यदि आप आईआईटी या अन्य सरकारी मान्यता प्राप्त कॉलेज में ही एडमिशन लेना चाहते हैं तो आप अपनी सुविधा अनुसार 12वीं के बाद एक साल के लिए ड्राप कर सकते हैं और उस साल जमकर फिर से प्रवेश परीक्षाओं के लिए मेहनत कर सकते हैं।

     

    5. कंप्यूटर इंजीनियरिंग की डिग्री लें | Software Engineer Ki Padhai

    एक बार जब आपका किसी कॉलेज में सिलेक्शन हो गया तो वह आपसे एक ब्रांच चुनने को कहेगा। इंजीनियरिंग में कई तरह के ब्रांच होते हैं जैसे कि सिविल, मैकेनिकल, इलेक्ट्रॉनिक्स, कंप्यूटर इत्यादि। अब यदि आपको सॉफ्टवेयर इंजिनियर बनना है तो आपको कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग या फिर इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी व इंजीनियरिंग कोर्स में से कोई एक चुनना होगा।

    इन दोनों में से किसी भी कोर्स में बीटेक करने के बाद आप सॉफ्टवेर इंजिनियर बन जाएंगे। एक ओर जहाँ कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में सॉफ्टवेर व हार्डवेयर दोनों के बारे में पढ़ाया जाता है तो वहीं दूसरी ओर, इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी में आपको मुख्यतः सॉफ्टवेर के बारे में ही पढ़ाया जाएगा। इसलिए आप अपनी पसंद के अनुसार कोई भी एक कोर्स चुन लीजिए।

     

    6. सीवी अच्छा बनायें | Software Engineer Kaise Bane

    कंप्यूटर साइंस में केवल डिग्री लेना ही काफी नही होता। इसके लिए आवश्यक है कि आपने चार साल के बीटेक के कोर्स में कितना सीखा और आप क्या-क्या कर सकते हैं। इसलिए केवल अपनी कॉलेज की पढ़ाई पर ही निर्भर ना रहें। यदि आप बीटेक के बाद एक अच्छी नौकरी चाहते हैं तो यह आवश्यक है कि आप कॉलेज से ही इस पर टाइम देना शुरू कर दें।

    इसके लिए आप कॉलेज के अलावा खुद से भी प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के बारे में डिटेल में पढ़ें। कॉलेज में जो आपको सिखाया जा रहा हैं, उसको असल जीवन में अप्लाई करें। आप चाहे तो खुद का कोई सॉफ्टवेर, वेबसाइट या ऐप डिजाईन कर सकते हैं। यह सब आपको आगे बढ़ने और अच्छी नौकरी दिलाने में बहुत मदद करेगा।

     

    7. एक नौकरी ढूंढे | Software Developer Kaise Bane

    एक बार जब आपकी कंप्यूटर इंजीनियरिंग ख़त्म हो जाये तब आप नौकरी के लिए अप्लाई करना शुरू कर सकते हैं। आपके कॉलेज में भी कई कंपनियां अपने लिए कर्मचारियों को चुनने आएगी। इसलिए आप तभी से इसकी तैयारी शुरू कर दें।

    सॉफ्टवेर इंजिनियर की नौकरी देने वाली कुछ बड़ी कंपनियों में टाटा, एचसीएल, विप्रो, कॉग्निजेंट, गूगल, फेसबुक इत्यादि हैं। इसके अलावा इस क्षेत्र में हजारों स्टार्ट-अप भी हैं जो आपको अच्छा सैलरी पैकेज दे सकते हैं। इसलिए आप अपनी सुविधा अनुसार कॉलेज कैंपस में आ रही कंपनियों के साथ-साथ खुद से बाहर भी कंपनियों में अपना resume भेजकर अप्लाई कर सकते हैं।

    एक बार आपका resume सेलेक्ट होने के बाद वे आपका इंटरव्यू लेंगे। हर कंपनी का अपने कर्मचारियों को चुनने का तरीका अलग-अलग हो सकता है। कोई इसके लिए प्रवेश परीक्षा लेता है तो कोई ग्रुप डिस्कशन भी करवाता है। इनमे सेलेक्ट होने के बाद वे आपको 2-3 इंटरव्यू लेने के लिए भी बुलाएँगे जिसमें एक या दो इंटरव्यू टेक्निकल होंगे और आखिरी एचआर का इंटरव्यू होगा।

    इन सभी राउंड्स में क्लियर होने के बाद आपको सॉफ्टवेर इंजीनियरिंग की नौकरी का ऑफर लेटर आ जाएगा। इसके बाद आप सॉफ्टवेर इंजिनियर में अपना करियर शुरू कर सकते हैं।

     

    सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग फीस | Fees of Software Engineering in Hindi

    software engineer kaise bane in hindi

    यह पूर्णतया आपके कॉलेज पर निर्भर करता है। सभी कॉलेज की अपनी सुविधा व कद के अनुसार अलग-अलग फीस होती है। इसके साथ ही बहुत से कॉलेज अपने कैंपस में ही हॉस्टल की भी सुविधा देते हैं। हॉस्टल की फीस कॉलेज की फीस से अलग होती है।

    यदि आप सरकारी कॉलेज या आईआईटी में प्रवेश लेते हैं तो आपका 4 साल का कॉलेज का खर्चा 2 से 5 लाख आएगा जिसमें हॉस्टल भी साथ में हो जाएगा। यदि बात निजी कॉलेज की की जाए तो इनकी फीस 2 से लेकर 20 लाख तक भी हो सकती है।

     

    सॉफ्टवेर इंजिनियर की सैलरी | Salary of Software Engineer

    एक सामान्य कॉलेज से इंजीनियरिंग करने वाले सॉफ्टवेर इंजिनियर की शुरूआती सैलरी 20 से 30 हज़ार के बीच हो सकती है जबकि अच्छे कॉलेज वालो की 50 हज़ार से 1 लाख के बीच। उसके बाद यह पूर्णतया आपके काम और लक पर निर्भर करेगा कि आप कितना कमाते हैं। आप चाहे तो महीने का 1 लाख भी कमा सकते हैं और एक करोड़ भी।

    तो दोस्तों ये थी सॉफ्टवेर इंजिनियर बनने से जुड़ी कुछ महत्पूर्ण जानकारी। हम आशा करते हैं कि आप software engineer kaise bane यह समझ गए होंगे।

    अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूलें और हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करें ताकि आपको ऐसी ही जानकारी मिलती रहे। हमसे जुड़े रहने के लिए सबसे नीचे दिए हमारे Email letter को फ्री में subscribe करें जिससे कि आप अन्य खबरों का लुफ्त भी उठा पाएं।

    Related articles

    Comments

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Newsletter

    Subscribe to stay updated.

    Popular articles

    Share article