Wednesday, July 17, 2024
More

    टीचर बनने के लिए क्या करें? जानिए ये तरीके

    About Teacher Kaise Bane: कई बच्चों का बचपन से ही टीचर बनने का सपना होता है इसलिए वह Teacher वाला खेल खेलना अधिक पसंद करते हैं। इसके आलावा कुछ लोग अपना भविष्य इसी लाइन में बनाना चाहते हैं लेकिन जानकारी के आभाव के कारण वे टीचर बनने से वंचित रह जाते हैं। बता दें टीचर बनने के लिए इस फिल्ड में जानकारी होना एवं उसकी तैयारी करना जरुरी है तभी आप अपना भविष्य टीचिंग लाइन में बना सकते हैं।

    यदि आप भी शिक्षक बनने का सपने अपनी आँखों में संजोए हुए हैं तो आज हम आपसे टीचर बनने वाले कुछ ऐसे पहलुओं पर चर्चा करने वाले हैं जिनको जानने के बाद आप आसानी से अपने सपने को साकार कर सकते हैं। तो चलिए स्टेप वाय स्टेप जानते हैं कि Teacher कैसे बनते हैं।

     

    टीचर कौन होते हैं | About Teachers in Hindi

    गुरु, शिक्षक, अध्यापक, आचार्य आदि को टीचर कहा जाता है। सरल शब्दों में बताया जाए तो जो किसी भी विद्यालय, महाविद्यालय अथवा किसी भी संस्था में शिक्षण प्रदान करता है उसको Teacher कहा जाता है। अतः जो विधार्थी को ज्ञानार्जन करने के अलावा नैतिक शिक्षा प्रदान करके व्यक्तित्व निर्माण की राह दिखता है सही मायने में वही टीचर यानी शिक्षक कहलाता है।

     

    टीचर के विभिन्न पद | Various Posts of Teachers

    दोस्तों टीचर कैसे बने इसकी आगे चर्चा करने से पहले यह जानना जरुरी है कि आखिर Teacher की नियुक्ति के लिए कौन-कौनसे पद होते हैं। पदों के नाम जानने के बाद आपको निर्णय करना होगा कि आप किस पद पर पहुंचकर शिक्षण कार्य करना चाहते हैं एवं उसी के मुताबिक आपको शिक्षक बनने की आगे की रणनीति तैयार करनी होगी। तो चलिए जानते हैं शिक्षक के विभिन्न पदों के नाम कौन-कौनसे होते हैं।

    • Primary Teacher (PRT)
    • Trained Graduate Teacher (TGT)
    • Post Graduate Teacher (PGT)

     

    टीचर बनने के लिए योग्यता | Eligibility to become a Teacher

    टीचर का सरल व्यक्तित्व देखकर यदि आपको ऐसा लगता है कि टीचर की नौकरी आपके लिए आसानी से प्राप्त हो जाएगी तो ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। इस पद को प्राप्त करने के लिए आपके पास विभिन्न प्रकार की योग्यता का होना भी जरुरी है।

    जैसा कि हमने आपको ऊपर टीचर के विभिन्न पदों के बारे में जानकारी दी है तो बता दें कि आप जिस भी पद को पाना चाहते हैं उसकी एक अलग योग्यता है। इसलिए अब हम आपको पदों के अनुसार टीचर बनने के लिए क्या योग्यता चाहिए वो बताने वाले हैं।

     

    1. प्राइमरी टीचर के लिए योग्यता | Eligibility for Primary Teacher (PRT)

    दोस्तों Primary Teacher (PRT) के लिए आपके पास नीचे बताई जा रही योग्यताएं होना जरुरी है:

    • यदि आप प्राइमरी टीचर के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो आपके पास 12वीं कक्षा में 50 प्रतिशत मार्क्स होना आवश्यक है। हालाँकि आरक्षित वर्ग के लिए नंबरों में छूट प्रदान की गई है।
    • आपके पास D.EL.ED (Diploma in Elementary Education) अथवा आपके पास D.Ed (Diploma in Education), NTT का कोर्स होना आवश्यक है।

     

    2. ट्रैनड ग्रेजुएट टीचर के लिए योग्यता | Eligibility for Trained Graduate Teacher (TGT)

    Trained Graduate Teacher का आवेदन करने के लिए आपके इस प्रकार की योग्यताओं का होना जरुरी है:

    • TGT के लिए आवेदन करने के लिए आपके पास ग्रेजुएट की डिग्री होना आवश्यक है।
    • B.Ed अथवा B.Ed के समक्ष किसी अन्य डिग्री का होना जरुरी है।
    • उम्र अलग-अलग राज्यों के मुताबिक राज्य सरकारें निर्धारित करती हैं।

     

    3. पोस्ट ग्रेजुएट टीचर के लिए योग्यता | Eligibility for Post Graduate Teacher (PGT)

    पोस्ट ग्रेजुएट टीचर का आवेदन करने के लिए उम्मीदवार के पास नीचे बतायीं महत्पूर्ण योग्यताओं का होना जरुरी है:

    • PGT का आवेदन करने के लिए आपके पास पोस्ट ग्रेजुएट की डिग्री होना जरुरी है।
    • आवेदन करता के पास बी.एड अथवा एम.एड होना आवश्यक है।

     

    टीचर कैसे बनते हैं | Government Teacher Kaise Bane

    टीचर बनने की योग्यता जानने के बाद आइए अब जानते हैं कि टीचर के विभिन्न पद आप कैसे प्राप्त कर सकते हैं।

     

    1. प्राइमरी टीचर कैसे बने | Primary Teacher Kaise Bane

    दोस्तों यदि आप 1 से 5 तक की कक्षा वाले विधार्थियों को पढ़ाने में रूचि रखते हैं तो आपको प्राइमरी कक्षा का Teacher बनना चाहिए। बता दें Primary Teacher को हिंदी में प्राथमिक शिक्षक कहा जाता है। इस पद को प्राप्त करने के लिए आपको राज्य सरकार अथवा केंद्र सरकार द्वारा आयोजित की जाने वाली शिक्षक भर्ती के लिए परीक्षा देनी होगी।

    याद रखें कि समयानुसार राज्य सरकार अथवा केंद्र सरकार प्राथमिक शिक्षक के लिए भर्ती करती हैं। अतः केंद्र सरकार द्वारा Tet/CTet परीक्षा आयोजित करवाई जाती है जिसमें मेरिट के आधार पर शिक्षक की भर्ती की जाती है।

     

    2. ट्रैनड ग्रेजुएट टीचर कैसे बने | Trained Graduate Teacher Kaise Bane

    माध्यमिक शिक्षक यानी Trained Graduate टीचर कक्षा 6 से 8 तक के छात्रों को शिक्षा देने के योग्य होता है। यदि आप भी कक्षा 6 से 8 तक के विद्यार्थियों को पढ़ाने में रूचि रखते हैं तो आपको इसके लिए शिक्षक भर्ती परीक्षा में सम्मलित होना पड़ेगा एवं परीक्षा में उच्च अंक प्राप्त करके ही आप मेरिट के आधार पर ट्रैनड ग्रेजुएट टीचर बन सकते हैं। सरकार व केंद्र सरकार समय समय पर TET/CTET परीक्षा आयोजित करवाती है जिसका फॉर्म भर करके आप इस परीक्षा में सम्मिलित हो सकते हैं।

     

    3. पोस्ट ग्रेजुएट टीचर कैसे बने | Post Graduate Teacher Kaise Bane

    दोस्तों इस पोस्ट को प्राप्त करने के बाद आप कक्षा 9 से 12 तक के छात्रों को पढ़ाने के योग्य बन जाते हैं। लेकिन इस पद को प्राप्त करने के लिए आपको पहले से योजना बनानी होगी एवं जिस विषय का आपको शिक्षक बनना है उस विषय का चयन आपको ग्रेजुएशन एवं पोस्ट ग्रेजुएशन करना होगा। अपने चयनित विषय में विशेष योग्यता हांसिल करने के लिए आप 12th क्लास में अपने पसंद के विषय का चयन कर सकते हैं।

     

    शिक्षक का वेतन | Salary of Teacher

    दोस्तों टीचिंग लाइन में आपको आपकी पोस्ट के मुताबिक सैलरी प्रदान की जाती है। यदि आप टीचर के पद के मुताबिक सैलरी जानना चाहते हैं तो देर किस बाद कि चलिए जानते हैं किस लेवल के शिक्षक को कितनी तनख्वाह मिलती है।

     

    1. प्राइमरी शिक्षक का वेतन | Salary of Primary Teacher

    यदि Primary Teacher की सैलरी की बात करें तो बता दें हमारे देश में कई राज्य हैं एवं उनमे अलग अलग सरकार हैं अतः राज्यों के अनुसार वेतन में अंतर देखा जा सकता है। इसके अलावा आपको शिखक के पद पर कितने साल हो गए हैं उस पर भी वेतन निर्भर करता है। बता दें औसतन एक प्राइमरी शिक्षक की सैलरी 9300 से 35400 रूपए तक देखी जा सकती है। इसके बाद विभिन्न भत्ता जैसे महंगाई भत्ता आवास भत्ता आदि सब भी मिलता है।

     

    2. माध्यमिक शिक्षक का वेतन | Salary of Trained Graduate Teacher

    ट्रैनड ग्रेजुएट टीचर की सैलरी Primary Teacher की सैलरी से अधिक होती है। लेकिन राज्यों के मुताबिक माध्यमिक शिक्षक की सैलरी में भी अंतर होता है। फिर भी आपको बता दें कि एक Trained Graduate Teacher का पाय स्केल 9300 to 44900 रूपए होता है। समयानुसार एक्सपीरियंस के आधार पर सैलरी में वृद्धि होती रहती है। इसके आलावा Trained Graduate Teacher को सरकार की दरें और भत्ते भी प्रदान किये जाते हैं।

     

    3. उच्चा शिक्षक का वेतन | Salary of Post Graduate Teacher

    दोस्तों यह विद्यालय स्थल का बड़ा पद होता है जिसमें माध्यमिक शिक्षक एवं प्राइमरी शिक्षक की अपेक्षा अधिक वेतन होता है। बता दें कि एक Post Graduate Teacher की pay scale 47,600 से Rs 1,51,100 प्रतिमाह की होती है। इसमें और भी कुछ अल्लोनसेस मिल जाते हैं जिससे तन्खा बाद भी सकती है इसके बाद फिर एक्सपीरियंस के आधार पर भी वेतन में अंतर और वृद्धि देखी जा सकती है।

     

    टीचर बनने के लिए क्या करें | Teacher Kaise Bane

    sarkari teacher kaise bane

    दोस्तों सरकारी पद चाहे छोटा हो अथवा बड़ा पद हो उसको प्राप्त करने के लिए उम्मीदवार को अधिक परिश्रम करना होता है। लेकिन कुछ लोगों को अधिक परिश्रम करने के पश्चात भी सफलता प्राप्त नहीं होती है एवं इसका मुख्य कारण होता है कि विधार्थी सही तरीके से परीक्षा की तैयारी नहीं करते हैं। इसलिए अब हम आपको बताने वाले हैं कि आपको टीचर बनने के लिए किस तरीके से तैयारी करनी चाहिए।

     

    1. समय निर्धारित करें

    दोस्तों किसी भी एग्जाम की तयारी करने के लिए आपको सबसे पहले अपने समय अनुसार टाइम टेबल बनना चाहिए। बता दें कि आपको सबसे पहले परीक्षा में आने वाले विषय का चुनाव करें एवं उसी के मुताबिक पढ़ाई के लिए घंटों का निर्धारण करें।

     

    2. प्रत्येक सब्जेक्ट पर ध्यान दें

    अक्सर देखा जाता है कि विधार्थियों को जिस सब्जेक्ट में अच्छा ज्ञान होता है अथवा वह जिस विषय को सरल समझते हैं उस विषय पर ध्यान नहीं देते हैं बल्कि अपना पूरा ध्यान उस विषय पर लगाते हैं जिसमें वे कमजोर हैं। लेकिन दोस्तों आपको ऐसा बिल्कुल भी नहीं करना है क्यूंकि कई बार परीक्षा में ऐसा होता है कि जो आपको सरल लगता है उसी प्रश्न का जवाब आप गलत कर आते हैं। इसलिए आपको सभी सब्जेक्ट के ऊपर अपना ध्यान केंद्रित करना है।

     

    3. बाल विकास की करें तैयारी

    दोस्तों आप शिक्षक भर्ती के लिए किसी भी पद के लिए आवेदन करें उसमें आपको बाल विकास का सब्जेक्ट अवश्य ही मिलेगा। बता दें कि यह सब्जेक्ट पड़ते समय सरल लगता है इसलिए कई स्टूडेंट्स बाल विकास को पढ़ने में रूचि नहीं रखते हैं। लेकिन जब आप एग्जाम देंगे तो सबसे अधिक कठिन प्रश्न आपको बाल विकास के ही लगेगें क्यूंकि इस विषय में आपसे घुमाकर प्रश्न पूछे जाते हैं एवं प्रश्न ऐसे होते हैं जिसमें आपको सभी उत्तर सही लगते हैं। इसलिए बाल विकास की तैयारी सही तरीके से करें।

     

    4. भाषाओं पर ध्यान दें

    यदि आप उच्च अंक प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको हिंदी की व्याकरण एवं परीक्षा के लिए चयनित दूसरी भाषा संस्कृत, इंग्लिश, उर्दू अथवा अन्य चयनित भाषा की व्याकरण का ज्ञान अधिक होना चाहिए। ऐसा इसलिए क्यूंकि यदि आपकी पकड़ व्याकरण पर अच्छी होगी तो आप इसमें अच्छा स्कोर कर सकते हैं।

     

    5. पुराने पेपर हल करें

    दोस्तों आप मार्केट में उपलब्ध टेस्ट पेपर तो हल करते ही होंगे इसके आलावा आप अधिक से अधिक पुराने एग्जाम के पेपर्स को हल करें। ऐसा करने से आपको परीक्षा का पैटर्न तो पता चलेगा ही साथ ही आपको यह पाता चलेगा की आप कितने समय में पेपर को हल कर सकते हैं।

     

    6. रिवीजन करना है जरुरी

    अधिकतर विधार्थी केवल एक ही बार एवं परीक्षा के कुछ ही दिनों पहले रिवीजन करते हैं जिसकी वजह से उनका आधा रिवीजन हो पाता है। इस वजह से वे आगे का पढ़ा हुआ भूल जाते हैं। लेकिन दोस्तों आपको ऐसा नहीं करना आपको एक सब्जेक्ट का चार से पांच बार रिवीजन करना है ताकि आप पेपर को आसानी से हल कर सकें।

     

    तो दोस्तों ये थी टीचर बनने से जुड़ी कुछ महत्पूर्ण जानकारी। हम आशा करते हैं कि आपको हमारी ये जानकारी उपयोगी लगी होगी और अब आपको किसी और से नहीं पूछना पड़ेगा कि Teacher kaise bane या फिर गूगल पर यह दोबारा सर्च नहीं करना पड़ेगा।

    अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूलें और हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करें ताकि आपको ऐसी ही जानकारी मिलती रहे। हमसे जुड़े रहने के लिए सबसे नीचे दिए हमारे Email letter को फ्री में subscribe करें जिससे कि आप अन्य खबरों का लुफ्त भी उठा पाएं।

    Related articles

    Comments

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Newsletter

    Subscribe to stay updated.

    Popular articles

    Share article