Thursday, July 18, 2024
More

    आइसक्रीम की दुकान कैसे खोलें: Ice Cream Business कैसे शुरू करें?

    आइसक्रीम की दुकान कैसे खोलें या Ice Cream Ka Business खोलने के लिए क्या-क्या चाहिए यह प्रश्न हर उस व्यक्ति के मन में उमड़ रहे होंगे जो आइसक्रीम का व्यापर करना चाहता है। आखिरकार आइसक्रीम की दुकान खोलना है ही ऐसा काम जिसमें आपको कई चीज़ों का एक साथ ध्यान रखना पड़ता है। लेकिन एक बार इसे सही तरीके से खोल लिया जाये तो फिर आपकी कमाई रुके नही रुकेगी।

    आइसक्रीम की दुकान खोलना एक ऐसा व्यापर है जो यदि सही से चल गया तो फिर कभी पीछे मुड़कर नही देखना पड़ेगा क्योंकि आज के बदलते जमाने में हर कोई अपने परिवार या दोस्तों के साथ आइसक्रीम का लुत्फ़ उठाना पसंद करता है। तो आइए जानते हैं कि आइसक्रीम की दुकान कैसे खोली जाए।

     

    आइसक्रीम की दुकान कैसे शुरू करें | Ice Cream Ka Business Kaise Kare

    इसके लिए आपको पहले कुछ बातों का ध्यान रखने की आवश्यकता है। इसलिए आज हम आपको स्टेप बाय स्टेप आइसक्रीम दुकान खोलने की पूरी प्रक्रिया से अवगत करवाएंगे।

     

    1. दुकान खोलने से पहले सर्वे करें

    आइसक्रीम की दुकान खोलने से पहले आपका यह देखना जरुरी है कि आप इसे अपने शहर के किस एरिया में खोलने जा रहे हैं। क्या वहां पर पहले से ही कोई आइसक्रीम पार्लर है और यदि नही है तो उसके सबसे पास का आइसक्रीम पार्लर कौनसा है और उस पार्लर की कमाई कितनी है।

    साथ ही आप जिस भी एरिया में आइसक्रीम की दुकान खोलने वाले हैं वहां जगह कितनी है। क्या आप बस आइसक्रीम की एक छोटी सी दुकान खोलने वाले हैं जहाँ लोगों को आइसक्रीम दे दी जाएगी और वे बाहर खड़े होकर आइसक्रीम खायेंगे या फिर आप एक पार्लर खोलने वाले हैं जहाँ लोगों को अंदर बैठकर आइसक्रीम खाने की सुविधा भी मिलेगी।

    कुछ जगह जहाँ आइसक्रीम की दुकान अच्छी चल सकती है, वे हैं:

    • स्कूल या कॉलेज
    • कोचिंग इंस्टिट्यूट
    • किसी बड़े ऑफिस या कंपनी के बाहर
    • किसी पार्क के पास
    • मुख्य बाजार में
    • शॉपिंग मॉल के आसपास
    • सिनेमा हॉल के पास
    • रेलवे स्टेशन या बस स्टैंड के पास इत्यादि।

     

    2. खुद का ब्रांड या किसी कंपनी के साथ

    अब आइसक्रीम के ब्रांड की बात करते हैं। क्या आप खुद का आइसक्रीम ब्रांड बनाकर बेचना चाहते हैं? कहने का तात्पर्य यह हुआ कि यदि आप किसी बड़ी आइसक्रीम कंपनी के साथ टाई अप नही करना चाहते हैं और खुद आइसक्रीम बनाकर उसे बेचना चाहते हैं तो आपकी तैयारी कैसी है और इसके लिए आपने क्या-क्या सोचा है? यदि आप खुद का ब्रांड बनाकर बेचना चाहते हैं तो इसके लिए आपको सभी तैयारी पहले से ही करके रखनी होगी और बहुत मेहनत भी करनी होगी।

    लेकिन यदि आप किसी कंपनी के साथ टाई अप करके आइसक्रीम पार्लर खोलने जा रहे हैं तो आप किस कंपनी के साथ टाई अप करेंगे क्योंकि हर कंपनी के अपने नियम व शर्तें अलग-अलग होते हैं। जैसे कि भारत का प्रसिद्ध आइसक्रीम ब्रांड अमूल का पार्लर खोलने में आपको लगभग 1 से 2 लाख का निवेश करना होगा और 100 से 300 वर्गफुट की जगह चाहिए होगी।

    इसके अलावा आप अन्य ब्रांड जैसे कि क्वालिटी वाल्स या वादीलाल से भी टाई अप कर सकते हैं। इनके भी नियम व शर्तें अलग-अलग होते हैं। आप चाहें तो स्वतंत्र पार्लर भी खोल सकते हैं और उसमे कई ब्रांड्स की आइसक्रीम खरीद कर रख सकते हैं। इससे आपको किसी एक ब्रांड की फ्रेंचाईजी भी नही लेनी पड़ेगी और आपका काम भी बन जाएगा।

     

    3. आइसक्रीम की दुकान खोलने के लिए लागत

    आप चाहें खुद का ब्रांड खोलें या किसी कंपनी के साथ टाईअप करें लेकिन इसके लिए आपको कम से कम 2 लाख के आसपास रुपए चाहिए होंगे क्योंकि आइसक्रीम बनाने, उसे स्टोर करने और बेचने के लिए जिन उपकरणों की आवश्यकता पड़ती हैं वे थोड़े महंगे आते हैं।

    आप चाहे तो इसमें 2 लाख से जितना ज्यादा चाहे उतना पैसा निवेश कर सकते हैं और अपने बिज़नेस को एक बड़ा आकर दे सकते हैं लेकिन शुरूआती तौर पर आपको 1 से 2 लाख रुपए निवेश करने ही पड़ेंगे।

     

    4. आइसक्रीम दुकान खोलने के लिए सामान

    अब बात करते हैं आइसक्रीम की दुकान खोलने के लिए आपको जो-जो सामान चाहिए होगा उसकी। इसके लिए आपको डीप फ्रिजर, रेफ्रीजेरेटर, चिलर आदि की व्यवस्था करनी होगी। साथ ही आपकी दुकान पर लोगों के बैठने के लिए टेबल, चेयर इत्यादि की व्यवस्था भी करनी होगी।

    अब आपकी दुकान पर लोग बैठेंगे तो उनके लिए पानी, एसी (air conditioner) जैसी व्यवस्था भी करनी पड़ती हैं क्योंकि ज्यादातर लोग गर्मी में आपकी दुकान पर कुछ राहत पाने और ice cream खाने आएंगे। ऐसे में यदि Ac ही नही होगा तो कौन आपकी दुकान पर आना चाहेगा। इसके अलावा बिजली के कट से बचने के लिए अपनी दुकान पर एक अच्छा जनरेटर भी लगवाना होगा। तो इन कुछ चीज़ों को खरीदने में आपके 1 से 2 लाख तो लग ही जाएंगे।

     

    5. कानूनी प्रक्रिया पूरी करें

    अब आती है कानूनी प्रक्रिया की बात। इस बात का ध्यान रखिए कि यदि आप खाने की कोई भी चीज़ से जुड़ा बिज़नेस कर रहे हैं तो आपको FSSAI (Food Safety and Standards Authority of India) से लाइसेंस आवश्यक रूप से ले लेना चाहिए ताकि बाद में किसी तरह की कोई समस्या ना हो। ऐसे में आप अपने यहाँ की नगर पालिका या नगर निगम में इसके लिए आवेदन कर सकते हैं। फिर फ़ूड इंस्पेक्टर आपके यहाँ आकर खाने की गुणवत्ता जांचेगा और आपको लाइसेंस दे देगा।

    इसके साथ ही अपनी दुकान के लिए एक अच्छा सा नाम भी सोचिये और दुकान की सजावट का भी पूरा ध्यान रखिए क्योंकि यदि दुकान की सजावट ही अच्छी नही होगी तो लोग आपके पार्लर में आकर आइसक्रीम खाने से झिझकेंगे।

     

    आइसक्रीम की दुकान का प्रमोशन | Ice Cream Shop Promotion Ideas

    आइसक्रीम की दुकान

    अब जब आपने अपनी आइसक्रीम की दुकान खोल ली है तो इसका प्रमोशन कैसे किया जाये ताकि आपकी दुकान पर ज्यादा से ज्यादा लोग आये। इसके लिए आप शुरूआती तौर पर अपनी दुकान के पोस्टर, hoardings, pamphlets आदि छपवा कर बाँट देंगे या स्पेशल जगहों पर लगवा देंगे लेकिन यह बस शुरूआती काम हैं। इसके बाद भी आपको अपनी आइसक्रीम की दुकान चलाने के लिए बहुत कुछ करना बाकि है।

    बता दें इसके लिए आप अपनी आइसक्रीम की दुकान पर केवल ice cream ही ना रखें। एक अच्छा सा फ्रिज लें और उसमे कई तरह की चीज़े जैसे कि कोल्ड ड्रिंक्स, सोडा और दूसरे पेय पदार्थ भी रखें। आप चाहे तो कई तरह के स्नैक्स जैसे कि चिप्स, कुरकुरे, चोकलेट आदि भी रख सकते हैं।

    इन सभी सामानों को रखने से आपकी दुकान पर जब लोग इन सामानों को खरीदने आएंगे तो सामने दिख रही लजीज आइसक्रीम को देखकर अवश्य ही उनका मन ललचा जाएगा और वे आपकी दुकान पर आइसक्रीम खरीदने या खाने आने लगेंगे।

    साथ ही आप लोगों से संपर्क कर उनके function में अपनी आइसक्रीम भी भिजवा सकते हैं। जैसे कि किसी के घर या हॉल में कोई जन्मदिन या शादी की सालगिरह की पार्टी रखी गयी हो तो वे वहां आइसक्रीम भी रखवाना पसंद करेंगे। ऐसे में यदि आप उनसे पहले ही संपर्क कर लेंगे तो इससे आपके आइसक्रीम के बिज़नेस में बूम देखने को मिलेगा और साथ ही आपकी दुकान की Branding होगी वो अलग।

     

    आइसक्रीम बिज़नेस करने के फायदे | Benefits of Ice Cream Business in Hindi

    Ice cream business benefits

    अभी तक हमने आइसक्रीम बिज़नेस में लगने वाली लागत की बात की लेकिन जितनी ज्यादा लागत उतना ही बड़ा फायदा। तो चलिए अब आइसक्रीम के व्यापार करने के फायदे देखते हैं:

    1. आजकल गर्मियां इतनी ज्यादा पड़ती हैं कि पूछों मत और इतनी भीषण गर्मी में लोगों की जो सबसे पसंदीदा चीज़ होती है वह होती है आइसक्रीम। आइसक्रीम लोग चलते-फिरते भी खा लेते हैं तो कई इसे घर पर ले जाते हैं तो कोई अपने दोस्तों को छोटी-मोटी पार्टी देने के लिए आइसक्रीम पार्लर पर ले जाते हैं। ऐसे में आपका बिज़नेस गर्मियों में ना सिर्फ चलेगा, बल्कि दौड़ेगा।

    2. सर्दियों में भी ice cream ka business खूब चलता है क्योंकि आजकल के बदलते ज़माने में लोग सर्दियों में भी आइसक्रीम खाना पसंद करने लगे हैं। इस काम में फिल्मों ने बहुत बड़ा योगदान दिया है और उन्हीं के देखा-देखी लोग सर्दियों में भी आइसक्रीम जैसी ठंडी चीज़ों का लुत्फ़ उठाने लगे हैं। इस तरह आपका आइसक्रीम का बिज़नेस हर मौसम में चलने वाला है।

    3. तीसरा सबसे बड़ा फायदा यह है कि आइसक्रीम केवल बड़ों की ही नही बल्कि बच्चों की भी फेवरेट होती है और बच्चों की जिद्द के आगे हर माता-पिता को झुकना ही पड़ता है। ऐसे में यदि आप किसी स्कूल के पास अपनी दुकान खोलेंगे तो इससे आपको बहुत फायदा मिलेगा।

     

    आइसक्रीम की दुकान के नुकसान | Disadvantages of Ice Cream Business in Hindi

    Ice cream ka business

    आइसक्रीम की दुकान खोलने के फायदे तो जान लिए लेकिन इसके कुछ नुकसान भी हैं जिन पर गौर किया जाना आवश्यक है।

    1. ज्यादातर बिज़नेस में रात को जब दुकान बंद हो जाती है तब किसी तरह का कोई खर्चा नही लगता लेकिन आइसक्रीम बिज़नेस में आपको 24 घंटे फ्रिजर इत्यादि जैसी चीज़े चालू रखनी पड़ेंगी ताकि आइसक्रीम पिघले नही या ख़राब ना हो। ऐसे में आपका बिजली का बिल थोड़ा ज्यादा आया करेगा।

    2. साथ ही यह बिज़नेस किसी ऐसी जगह पर ही चलेगा जहाँ लोगों का आना-जाना लगा रहता हो क्योंकि कोई भी ज्यादा दूर तक जाकर आइसक्रीम खाने जाना पसंद नही करेगा। ऐसे में आपको अच्छी और खुली जगह पर ही आइसक्रीम की दुकान खोलनी पड़ेगी जो कि थोड़ी महँगी पड़ेगी।

    3. आपको इन्वेर्टर की भी व्यवस्था करनी पड़ेगी ताकि बिजली जाने की स्थिति में आपकी आइस क्रीम पिघले नहीं अन्यथा पिघली हुई आइस क्रीम कोई नहीं खायेगा।

    4. आइस क्रीम पिघल जाने की स्थिति में अगर इसे दोबारा भी जमाया जाए तो इनका shape कई बार बदल जाता है ऐसे में ये damaged आइसक्रीम की श्रेणी में आती हैं। जो कस्टमर नहीं लेते और दुकानदार को फिर नुकसान उठाना पड़ता है।

    5. अन्य उत्पादों की तुलना में आइस क्रीम की expiry date बहुत कम होती है। ऐसे में माल को जल्दी बेचना पड़ता है अन्यथा घाटा हो जाता है।

     

    तो दोस्तों ये थी Ice Cream Ka Business शुरू करने से जुड़ी कुछ जानकारी। आप इसकी सभी जानकारी, लाभ और हानि को ध्यान में रखते हुए अपनी आइसक्रीम की दुकान खोलने का निर्णय ले सकते हैं। अगर आपको हमारी दी गई जानकारी अच्छी लगी तो इसे तुरंत अपने दोस्तों के बीच शेयर कर दें साथ ही सोशल मीडिया पर हमें फॉलो कर लें ताकि आपको ऐसी ही जानकारी मिलती रहे।

    हमारी पोस्ट पढ़ते रहने के लिए पास में दिए घंटी के बटन को दबाएं या फिर हमारे Email letter को फ्री में subscribe करें।

    Related articles

    Comments

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Newsletter

    Subscribe to stay updated.

    Popular articles

    Share article