English कैसे सीखें? जानिए ये आसान तरीके

हमारा देश हिन्दीभाषी देश है इसलिए अधिकतर लोगों को english लिखना एवं बोलना नहीं आता है। लेकिन आज के समय में इंग्लिश की मांग दिन प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है इसलिए प्रत्येक क्षेत्र में आपको इंग्लिश की जरुरत पड़ती है। यदि आपको इंग्लिश नहीं आती है तो आप कई तरह की नौकरियों से भी वांछित रह जाते हैं अतः पढ़ाई का क्षेत्र हो, बिजनेस का क्षेत्र हो या यातायात का क्षेत्र हो आपको सभी जगह English की आवश्यकता पड़ती है।

आप कितने भी होशियार क्यों ना हों लेकिन वर्तमान समय में यदि आपको इंग्लिश नहीं आती है तो यह आपका प्रभाव बिगाड़ सकती है। लेकिन जो लोग ये सोचते हैं कि हमको इंग्लिश नहीं आती तो अब हम इंग्लिश सीख ही नहीं सकते तो ये धारणा गलत है। बता दें कि किसी भी चीज को सीखने की कोई उम्र नहीं होती है बस आपके अंदर किसी भी चीज को सीखने के लिए लगन होनी चाहिए।

तो दोस्तों यदि आपका भी इंग्लिश सीखने का मन है लेकिन आप यह सोच रहें हैं कि english kaise sikhe तो आज हम आपको बताने वाले हैं कि आप इंग्लिश कैसे सीख सकते हैं।

 

इंग्लिश क्या है | What is English

दोस्तों इंग्लिश को अंग्रेजी के नाम से भी जाना जाता है एवं अन्य भाषाओं की तरह इंग्लिश भी एक भाषा है। इसकी प्रसिद्धि व उपयोगिता के कारण अंग्रेजी को अंतरराष्ट्रीय भाषा घोषित किया गया है। इस बात से आप यह तो समझ ही गए होंगे कि केवल देश के अंदर ही नहीं अपितु अन्य देशों के साथ व्यापार, जॉब अथवा अन्य संबंध बनाने में भी इंग्लिश का ज्ञान होना जरुरी है।

 

इंग्लिश कैसे सीखें | English Kaise Sikhe

इंग्लिश एक भाषा है जिसको सिखने के लिए एक नहीं बल्कि कई तरीके हैं जिनकी मदद से आप आसानी से इंग्लिश सीख सकते हैं। लेकिन दोस्तों आपको केवल उन्ही तरीकों का इस्तेमाल करना है जिसमें आपका मन लगता है। यदि ऐसे उपायों का उपयोग करेंगे तो आप आसानी से इंग्लिश सीख सकते हैं। अब बारी आती है इंग्लिश के ऐसे कौनसे तरीके अथवा उपायें हैं? तो आइए आपको इन तरीकों के बारे में विस्तार से बताते हैं।

 

1. व्याकरण पर ध्यान केंद्रित करें

आपने कई बार सुना और पढ़ा भी होगा कि इंग्लिश सीखने के लिए व्याकरण जरुरी नहीं है लेकिन दोस्तों जब आपको किसी चीज का आधार (बेसिक) ही मालूम नहीं होगा तो आप उस चीज को कभी भी सही से नहीं सीख सकते हैं। यदि आप व्याकरण रहित इंग्लिश सीखते हैं तो आप उसका उच्चारण भी गलत ही करते हैं एवं किसी भी भाषा का जब हम गलत उच्चारण करते हैं तो उस भाषा को लिखते भी गलत ही हैं। इसलिए यदि आपको परफेक्ट इंग्लिश सीखना है तो आपको अपना ध्यान व्याकरण पर केंद्रित करना चाहिए।

 

2. इंग्लिश सीखने की शुरआत इस तरीके से करें

दोस्तों आपने छोटे बच्चों को अक्सर देखा होगा कि जब उन्हें बोलना नहीं आता है तो वह अपने परिजनों की बात को ध्यान से सुनते हैं, उसके बाद समझते हैं एवं इसके बाद बोलते हैं फिर धीरे-धीरे लिखना सीखते हैं एवं यही क्रम स्कूलों में छोटे बच्चों पर लागू किया जाता है। इसलिए यदि आप इंग्लिश सीखने के लिए इस नियम का पालन करते हैं तो आपको इंग्लिश सीखने से कोई भी नहीं रोक सकता है। अतः आप जल्दी और आसानी से इंग्लिश सीख जाएंगे।

1. Listening
2. Understanding
3. Speaking
4. Writing

आइए इंग्लिश सीखने में सहायता करने वाले विभिन्न कौशलों को विस्तार से समझते हैं।

 

1. Listening

Listening का हिंदी अनुवाद होता सुनना। तो दोस्तों आपको इंग्लिश सीखने के लिए सबसे पहले इंग्लिश को सुनना चाहिए। ऐसा करने से इंग्लिश पर आपकी पकड़ तो मजबूत होती ही है साथ ही आप इंग्लिश शब्दों का सही उच्चारण करना भी सीख जायेंगे। दोस्तों आपने एक बात का अवश्य ही अनुभव किया होगा की हम जो भी कुछ पढ़ते हैं वह हमे कुछ ही समय के लिए याद रहता है लेकिन जिस किसी बात को हम सुनते हैं वह लम्बे समय तक याद रहती है। इसलिए आपको इंग्लिश सीखने के लिए इंग्लिश Listening नियम का पालन करना चाहिए।

 

2. Understanding

Understanding का मतलब किसी भी चीज को समझना होता है। जब तक हम किसी भी चीज को सीखने से पहले समझते नहीं है या उसका अनुसरण नहीं करते हैं तो उस चीज को हम लाइफ में कभी भी नहीं सीख पाते हैं। अतः इंग्लिश को सुनने के साथ ही उसको समझना भी है तभी आप इंग्लिश सीख सकते हैं।

 

3. Speaking

Speaking का अर्थ बोलना होता है। यह किसी भी भाषा को सीखने का सबसे महत्पूर्ण नियम होता है। आपको इंग्लिश सीखने के लिए उसको बोलना जरुरी है। यदि आप यह सोचते हैं कि आपको इंग्लिश नहीं आती है अतः हम किसी भी वाक्य का उच्चारण करेंगे तो उसका उच्चारण गलत होगा तो दोस्तों बता दें कि गलती करने के बाद ही इंसान सीखता है। इसलिए यदि आप इंग्लिश के गलत वाक्य बोलते हैं तो उन वाक्यों को बोलने से आपको भयभीत नहीं होना है। इस पद्धति का प्रयोग करने से आप धीरे-धीरे इंग्लिश बोलना अवश्य ही सीख जायेंगे।

 

4. Writing

Writing का मतलब लिखना होता है। दोस्तों लिखने के लिए जरुरी नहीं है कि आप किसी किताब में से देख कर उस किताब में लिखे गए paragraph को लिखें। हालाँकि आप ऐसा कर सकते हैं लेकिन बता दें कि कॉपी सिर्फ कॉपी ही रहती है ऐसा करने से आप सिर्फ एक सीमित क्षेत्र को समझ सकते हैं। लेकिन यदि आप अपने विचारों को इंग्लिश में लिखने की कोशिश करेंगे तो आप आसानी से इंग्लिश में लिखना तो सीखेंगे ही साथ ही इस ट्रिक के इस्तेमाल से आप इंग्लिश बोलना भी जल्दी सीखेंगे।

 

इंग्लिश सीखने के आसान तरीके | English Sikhne Ke Aasan Tarike

 

1. न्यूज़ सुनने की आदत डालें

दोस्तों हम यहाँ पर आपसे हिंदी न्यूज़ चैनल सुनने की बात नहीं कर रहे हैं बल्कि इंग्लिश न्यूज़ चैनल सुनने की बात कर रहें हैं। न्यूज़ चैनल एक ऐसा माध्यम है जिसके जरिये आप न सिर्फ इंग्लिश सीखते हैं बल्कि न्यूज़ में आने वाली फोटो अथवा क्लिप को देखकर आप इंग्लिश के शब्दों को आसानी से समझ भी सकते हैं। यदि आप सही तरीके से इंग्लिश सीखना कहते हैं तो आप इंग्लिश सीखने के इस तरीके को अपना सकते हैं।

 

2. प्रतिदिन इंग्लिश न्यूज़ पेपर पढ़ें

दोस्तों यदि आपके घर हिंदी न्यूज़ पेपर आता है तो इसके साथ ही आप इंग्लिश न्यूज़ पेपर भी अपने यहाँ चालू कर दीजिये क्यूंकि इंग्लिश news paper पढ़ने से आपको इंग्लिश के नए-नए मीनिंग एवं वाक्यों को जानने एवं समझने का मौका मिलता है। जिसके माध्यम से आप इंग्लिश के तमाम meaning आसानी से सीख जाते हैं। यदि आपको पेपर पढ़ते समय कोई मीनिंग या वाक्य समझ में नहीं आता है तो आप गूगल का सहारा ले सकते हैं।

 

3. मीनिंग डायरी बनायें

दोस्तों इंग्लिश सीखने के लिए आप इंग्लिश डिक्सनरी का उपयोग करते ही होंगे इसके आलावा आप अपनी स्वयं की डिक्सनरी भी बना सकते हैं। बता दें कि आपको अपनी डिक्सनरी बनाने के लिए ज्यादा महेनत नहीं करनी है बल्कि आप जो भी न्यूज़ पेपर में या स्टोरी बुक में नए मीनिंग पढ़ते हैं अथवा न्यूज़ चैनल में सुनते हैं तो बस आपको इन्ही meanings को अपनी diary में लिखना हैं। ऐसा करने से आपके पास नए-नए meanings का collection तो होगा ही साथ ही यदि आप पढ़े हुए या सुने हुए मीनिंग का अर्थ भूल जाते हैं तो इस dictionary के माध्यम से पुनः याद कर सकते हैं।

 

4. ग्रुप बनाये

दोस्तों जो कार्य ग्रुप में रहकर सही तरीके से संपन्न किया जा सकता है उस कार्य को आप अकेले आसानी से सम्पन्न नहीं कर सकते हैं। यदि आप कम समय में इंग्लिश सीखना चाहते हैं तो आपको अपना एक अलग से ग्रुप तैयार करना चाहिए एवं प्रत्येक ग्रुप सदस्य को एक-एक टॉपिक बोलने और लिखने के लिए देना चाहिए। इससे आप इंग्लिश तो सीखेंगे ही साथ ही आपकी इंग्लिश speaking एवं writing में भी सुधार होगा। इसके आलावा आप इंग्लिश में वाद विवाद अथवा ग्रुप conversation भी कर सकते हैं।

 

5. सोशल साइड्स का लें सहारा

दोस्तों वर्तमान समय में आपकी कई समस्याओं का समाधान social sites के माध्यम से हो रहा है। ऐसे में यदि आप इंग्लिश सीखना चाहते हैं तो आपको सोशल मीडिया का उपयोग अवश्य ही करना चाहिए। इसमें आप यूट्यूब, ट्विटर का उपयोग कर सकते हैं। इसके साथ आप इंग्लिश में बातचीत करने के लिए व्हाट्सप्प, फेसबुक, इंस्टाग्राम का भी इस्तेमाल इंग्लिश सीखने के लिए कर सकते हैं।

 

6. इंग्लिश सीखने के लिए आईने को बनाये अपना दोस्त

कई लोगों के साथ ऐसा होता है कि वे जब इंग्लिश सीखने की अथवा इंग्लिश में बोलने की कोशिश करते हैं तो सामने वाले व्यक्ति के सामने बोलने से कतराते हैं क्योंकि उनको इंग्लिश बोलने की आदत नहीं होती है। इसके आलावा यदि किसी के सामने हम कुछ बोलते ही हैं तो वह हमारी बात को कुछ मिनिट ही सुन सकता है। लेकिन इंग्लिश बोलने के लिए आपको अधिक समय देना होता है। तो बता दें इस परिस्थिति में आप अपने आईने को अपना दोस्त बना सकते हैं। अतः आपको इंग्लिश सीखने के लिए कांच के सामने खड़े होकर इंग्लिश बोलना चाहिए। ऐसा करने से आप कम समय में ही इंग्लिश बोलने लगेंगे।

 

7. दैनिक डायरी बनाएं

दोस्तों इंग्लिश लेखन को सही करने के लिए आपको अपनी दैनिक डायरी बनानी चाहिए। इस डायरी में आपको सिर्फ प्रतिदिन की दिनचर्या के बारे में इंग्लिश में ही लिखना है। जैसा कि आप सुबह कितने बजे उठे, उठने के बाद आपने क्या किया, उसके बाद कितने लोगों से मिले, उनसे मिलने के बाद क्या क्या बातें हुई इस तरीके से आपको अपनी दिनचर्या का विवरण दैनिक डायरी में लिखना है।

 

8. इंग्लिश में सोचें

जैसा कि हम जानते हैं कि प्रत्येक मनुष्य के अंदर अनेक प्रकार के विचार उत्पन्न होते हैं एवं जब वह अकेला होता है तो मन ही मन कुछ न कुछ अवश्य ही सोचता रहता है। इसी प्रकार आपके मन में भी कई विचार आते होंगे एवं आप भी कुछ न कुछ अवश्य ही सोचते होंगे, तो दोस्तों आपको इंग्लिश सीखने के लिए अपने विचारों को इंग्लिश में ट्रांसलेट करना है। अतः आपको इंग्लिश में ही सोचना होगा क्योंकि जो भी हम मन ही मन सोचते हैं उस वाक्य को दूसरों के सामने सहज ही प्रस्तुत कर सकते हैं।

 

9. इंग्लिश स्टोरी बुक से सीखें इंग्लिश

दोस्तों आपको याद होगा जब आप छोटे थे तो आपको किसी बात को समझाने के लिए कहानी का सहारा लिया जाता है। इसी Formula का उपयोग आपको इंग्लिश सीखने के लिए करना है। आपको इंग्लिश सीखने के लिए अपनी पसंदीदा स्टोरी बुक का चयन करना है एवं इसके बाद आपको प्रतिदिन इंग्लिश स्टोरी बुक को पड़ना एवं समझना है। यदि आपको स्टोरी पढ़ना पसंद नहीं है तो आप इंग्लिश में उपन्यास भी पढ़ सकते हैं।

 

10. इंग्लिश मूवी व शो देखें

किसी भी भाषा को सीखने का सबसे अच्छा माध्यम सुनना और देखना होता है। यदि आपको न्यूज़ चैनल देखना पसंद नहीं है अथवा आपको स्टोरी बुक पढ़ना भी पसंद नहीं है तो आपके लिए इंग्लिश सीखने का सबसे बेहतरीन विकल्प इंग्लिश मूवी एवं शो देखना है। जी हाँ आप ऐसा करके भी अपनी अंग्रेजी सुधार सकते हैं। लेकिन इस उपाय का उपयोग करने से बहुत कम लोग ही इंग्लिश सीख पाते हैं।

 

11. इंग्लिश में गाने सुने

दोस्तों अधिकतर लोग गाने सुनने के शौकीन होते हैं। अतः अपने इस शौक का इस्तेमाल आप इंग्लिश सिखने के लिए भी कर सकते हैं। गाने सुनने के लिए आपको विशेष समय निकालने की जरुरत नहीं पड़ती है। इंग्लिश सीखने के लिए गाने आपके लिए एक ऐसा विकल्प है जिसके द्वारा आप व्यस्त समय में भी इंग्लिश सीख सकते हैं जैसे कि यदि आप बस, ट्रैन, ऑटो अथवा ऑफिस में हैं तो आप इंग्लिश गाने सुन सकते हैं।

 

12. एन्जॉय के साथ सीखें इंग्लिश

इंग्लिश सीखने के लिए आपको ज्यादा stress लेने की जरुरत नहीं है। आपको इंग्लिश को एक सामान्य भाषा समझकर मस्ती के साथ सीखना है क्यूंकि जब आपका माइंड फ्री होता है तो आप किसी भी चीज को सरलतापूर्वक आसानी से सीख सकते हैं।

 

13. धैर्य और विश्वाश है जरुरी

इंग्लिश कई लोग के लिए एकदम नई भाषा लगती है इसलिए ऐसे लोगों को इंग्लिश सीखने में कठनाई महसूस होती है एवं उनके मन में निगेटिविटी आने लगती है व फलस्वरूप वह इंग्लिश सीखना बंद कर देते हैं। लेकिन दोस्तों यदि आप किसी भी नई चीज को सीखते हैं तो आपको उस चीज को सीखने में शुरुआत में कठनाई होती है लेकिन जैसे-जैसे आप आगे बढ़ते जाते हैं वह चीज आपको सरल लगने लगती है। यदि आपने इंग्लिश सीखने का मन बना लिया है तो आपको धैर्य एवं विश्वास रखना होगा तभी आप इंग्लिश सीख सकते हैं।

 

तो दोस्तों ये थी इंग्लिश सीखने से जुड़ी कुछ जानकारी। हम आशा करते हैं की आप english kaise sikhe यह समझ गए होंगे। अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूलें और हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करें ताकि आपको ऐसी ही जानकारी मिलती रहे।
हमसे जुड़े रहने के लिए घंटी के बटन को दबाएं या फिर नीचे दिए हमारे Email letter को फ्री में subscribe करें जिससे की आप अन्य खबरों का लुफ्त भी उठा पाएं।

Share This Post:

Leave a Comment

error:
Copy link
Powered by Social Snap