Wednesday, April 10, 2024
More

    Apna Khata राजस्थान: E Dharti पोर्टल पर जमाबंदी, खसरा, भूलेख रिकॉर्ड देखें

    Apna Khata की जानकारी आज आपको इस पोस्ट में मिलेगी। हम आपको बताएँगे कि कैसे आप E dharti पोर्टल पर Apna khata देख सकते हैं, Apna khata में कैसे लॉगिन कर सकते हैं। साथ ही आपको हम Khata Nakal, भूलेख राजस्थान, online jamabandi, खेत का नक्शा, khasra number एवं Rajasthan खसरा नकल इनसे सबसे जुड़ी जानकारी भी इस पोस्ट देंगे।

    आप अगर राजस्थान के रहवासी हैं और अपने या किसी और की जमीन यानी कि भूलेख का रिकॉर्ड विशेषकर खेती की जमीन की जानकारी देखना चाहते हैं तो अब आपको सरकारी दफ्तर के चक्कर काटने की जरुरत नहीं है। राजस्थान सरकार ने इसके लिए एक ऑनलाइन सुविधा लोगों को दे दी है जिसे हम Apna khata के नाम से जानते हैं।

    इस सुविधा का उपयोग करके आप अपनी जमाबंदी की जानकारी, भू नक्शा, खसरा नकल सब ऑनलाइन देख व डाउनलोड कर सकते हैं।

     

    अपना खाता क्या है | What is Apna Khata?

    अपना खाता राजस्थान सरकार द्वारा लांच किया गया एक ऑनलाइन पोर्टल है जहाँ पर आप राजस्थान राज्य के भूस्थल का विवरण देख सकते हैं। इस पोर्टल को राजस्व विभाग की पहल पर बनाया गया है जिससे आम आदमी को किसी भी भूलेख की जानकरी पाने के लिए तहसील व पटवारी के पास जाने की आवश्यकता ना पड़े।

    राजस्थान के Apna khata पोर्टल को E Dharti के नाम से भी जाना जाता है। ऐसा इसलिए क्यूंकि यहाँ पर धरती यानी की भूमि अभिलेखों की पूरी जानकारी को कम्प्यूटरीकृत किया गया है। इस पोर्टल को डी.आई.एल.आर.एम.पी (DILRMP) यानी कि Digital India Land Records Modernization Program नामक scheme के अंतर्गत लांच किया गया है जिसके तहत सरकार का उद्देश्य है की भुलेखों का डिजिटलीकरण किया जाए।

    E dharti portal

    आपको बता दें कि सर्वप्रथम भूमि संसाधन विभाग और Ministry of Rural Development भूमि से जुड़ी कई योजनाएं बना रही थी। जिसमें कि भूमि का कम्प्युटरीकरण (CLR), राजस्व प्रशासन का सुदृढ़ीकरण (SRA) एवं भूलेखों का अद्यतनीकरण (ULR) शामिल था। परन्तु बाद में फिर केंद्रीय मंत्रिमंडल ने इन योजनाओं का विलय कर इन्हे एक करते हुए DILRMP (डी.आई.एल.आर.एम.पी) program को लांच कर दिया।

    इसी कार्यक्रम के अंतर्गत हर राज्य के भूलेख का विवरण देखने की अपनी एक वेबसाइट है जिसमें से Rajasthan राज्य के पोर्टल को हम Apna Khata के नाम से जानते हैं।

     

    अपना खाता पोर्टल पर कैसे पहुंचे | How to access Apna Khata Portal

    अपना खाता क्या होता है यह तो आपने ऊपर जान लिया परन्तु इस पर पहुंचे कैसे ये जानना महत्पूर्ण हो जाता है। अगर आप अपने खेत की जमाबंदी, खसरा report, भूमि नक्शा आदि देखना चाहते हैं तो पहले आपको apna khata के पोर्टल पर visit करना होगा। बता दें यह राजस्थान सरकार की website है जिसे NIC (National Informatics Centre) द्वारा बनाया गया है और भूमि से जुड़ी समस्त जानकारी राजस्व मण्डल राजस्थान द्वारा उपलब्ध कराई गई है। इस पोर्टल पर जाने के लिए आप नीचे बताये गए Url पर visit कर सकते हैं।

    Apna Khata Official Website – https://apnakhata.raj.nic.in/

     

    मोबाइल ऐप से खोलें | Access E Dharti by Mobile Application

    अगर अपना खाता पोर्टल की वेबसाइट खुल ना रही हो तो अब आप मोबाइल एप्लीकेशन से भी अपनी जमीन का रिकॉर्ड देख सकते हैं। बता दें की गूगल प्ले स्टोर पर Apna Khata Rajasthan नाम से कई मोबाइल एप्लीकेशन मौजूद हैं जिनमें से आप कोई भी अच्छी एप्लीकेशन डाउनलोड करके अपने भूलेख का विवरण ले सकते हैं।

    apna khata mobile app

    अगर आप कई सारी एप्लीकेशन में से तय नहीं कर पा रहे हैं की कौनसी app डाउनलोड करना है तो आप इस लिंक (App Download) से सीधे डाउनलोड कर लें। एक बार ऐप डाउनलोड हो जाने के बाद आप यहाँ से अपना khasra khatauni देख सकते हैं। इसके लिए ऐप में जा कर पहले अपना जिला व तहसील चुन लें, अगर आप गाँव में रहते हैं तो तहसील चुनने के बाद यहाँ से अपना गाँव/पटवार मंडल चुन लीजिए। इसके बाद स्क्रीन पर मांगी गई जानकारी (credentials) डाल कर जमीन का रिकॉर्ड देख सकते हैं।

    नोट : App Store पर मौजूद Apna khata नाम की एप्लीकेशन सरकारी नहीं है। यह समस्त applications निजी कंपनियों द्वारा लांच की गई हैं। अतः यहाँ से आपका डाटा चोरी भी हो सकता है तो इसलिए इनका इस्तेमाल सावधानी पूर्वक करें।

     

    ई धरती पोर्टल के लाभ | Benefits of E Dharti Portal Rajasthan

    अपना खाता (E dharti) पोर्टल के आ जाने से लोगों को कई सुविधाएँ मिली हैं जिससे सरकार द्वारा उठाया गया ये कदम सराहनीय साबित हुआ है। ई धरती के नीचे दिए गए ये लाभ स्पष्ट रूप से देखे जा सकते हैं –

    1. किसी भी जमीन का रिकॉर्ड अब apna khata के जरिए कंप्यूटर व मोबाइल पर देखा जा सकता है। इसके लिए किसी के पास जाने के जरुरत नहीं है।
    2. भूलेख की जानकारी ऑनलाइन हो जाने से दस्तावेजों में पारदर्शिता आई है जिससे धोखाधड़ी होने की संभावना कम हो गई है।
    3. पहले जमाबंदी से जुड़ी जानकारी देने के लिए भी घूसखोरी हो जाती थी, E dharti के आ जाने से ये समाप्त हो गई है।
    4. व्यक्ति राजस्थान में अपने भूलेख का विवरण अपना खाता पोर्टल के जरिए दुनिया के किसी भी कोने से देख सकता है। इसके लिए राज्य में उपस्थित होने की जरुरत नहीं।
    5. खेत की जानकारी कम समय में और बिना पैसे में पाने के लिए Apna khata बहुत ही अच्छा विकल्प है।

     

    अपना खाता पर मौजूद विकल्प | Various Services of Apna Khata

    दोस्तों अपना खाता पोर्टल पर कई तरह की सुविधाएँ मौजूद हैं। अगर आप यहाँ से अपनी जमाबंदी, खसरा, bhulekh आदि की जानकारी चाहते हैं तो पहले आपको इस वेबसाइट पर मौजूद सभी विकल्प या सेवाओं का पता होना चाहिए तत्पश्चात आप उस विकल्प का चयन करके ही अपनी जरुरत को पूरा कर पाएंगे। तो चलिए आपको Apna Khata पोर्टल पर मौजूद सभी सेवाओं से रूबरू करवाते हैं।

    • जमीन का रिकॉर्ड/जमाबंदी/खसरा/भूलेख की जानकारी
    • नामांतरण के लिए आवेदन
    • प्रतिलिपि शुल्क
    • नामांतरण की स्थिति
    • ई-मित्र लॉगिन

    आइए अब एक-एक करके आपको इन विकल्पों के बारे में विस्तार से बताते हैं और दिखाते हैं की कैसे इनका उपयग कर आप जानकारी निकाल सकते हैं।

     

    1. जमीन का रिकॉर्ड (जमाबंदी) कैसे देखें | How to check Land record on Apna Khata

    ई-धरती पोर्टल पर आ जाने के बाद कई लोग भ्रमित हो जाते हैं कि यहाँ से अपनी जमाबंदी/खसरा की जानकारी या प्रतिलिपि कैसे निकाली जाए। अगर आपको भी समझ नहीं आ रहा है तो चलिए आपको step wise समझते हैं कि कैसे आप अपने भूलेख के रिकॉर्ड को देख सकते हैं।

    (i) सबसे पहले अपना खाता पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट apnakhata.raj.nic.in पर आ जाएँ और इसके बाद दाईं ओर राजस्थान के नक़्शे के ऊपर दिए गए विकल्प ‘जिला चुनें’ पर क्लिक करें।

    district apna khata

    (ii) यहाँ मौजूद राजस्थान के सभी जिलों में से अपने जिला का चुनाव करें जहाँ आपकी जमीन स्थित है। आप यह राजस्थान के नक़्शे में मौजूद जिलों पर क्लिक करके भी कर सकते हैं।

    (iii) जिले का चुनाव कर लेने के बाद आपके सामने उस जिले में मौजूद सभी तहसील आ जाएँगी। अब आपको यहाँ से अपनी तहसील चुनना है। तो आप यहाँ से नक़्शे में मौजूद अपनी तहसील पर click करें या फिर नक़्शे के बाईं तरफ दी गयीं तहसील की लिंक पर click करके अपनी तहसील चुनें।

    Tehsil apna khata

    (iv) तहसील select कर लेने के बाद अब आपको गाँव चुनना होगा। तो screen पर मौजूद सभी गाँव-पटवार मंडल में से जहाँ आपकी जमीन स्थित है उस स्थान का चुनाव करें।

    village apna khata

    (v) गाँव का चुनाव करते ही आपके सामने एक नयी screen आ जाएगी जिस पर आपका जिला, तहसील व गाँव का नाम मौजूद होगा। इसके नीचे आपको आवेदक का नाम, शहर, पता व पिनकोड डालना होगा तत्पश्चात नीचे दी गए विकल्प जमाबंदी की प्रतिलिपि या फिर नामांतरण की प्रतिलिपि में से किसी एक का चयन करना होगा। आप जो भी देखना या निकलना चाहते हैं उसे चुन सकते हैं।

    jamabandi pratili step 4

    (vi) इसके बाद आपको जमाबंदी देखने अपना अकाउंट नंबर/खसरा नंबर/ नाम/USN/GRN आदि में से कुछ एक डालना होगा और आपकी जमाबंदी आपको दिख जाएगी। ऐसे ही नामांतरण की प्रतिलिपि देखने के लिए भी आपको नामांतरण संख्या डालनी होगी जिसके बाद आप इसकी प्रतिलिपि निकाल सकते हैं।

     

    2. नामांतरण के लिए आवेदन कैसे करें | How to apply for Namantran

    अब आप ई धरती (Apna khata) की वेबसाइट से ही नामांतरण के लिए भी apply कर सकते हैं। ये नामांतरण बैंक से लिए गए ऋण के लिए, ऋणमुक्त होने के लिए, विरासत के लिए, हक त्याग करने के लिए, उपहार के लिए और नाबालिग से बालिग विकल्प में से किसी के लिए भी हो सकता है। नामांतरण करने के लिए आप नीचे बताये गए process को follow कर सकते हैं।

    (i) सर्वप्रथम apna khata पोर्टल पर मौजूद ‘नामांतरण के लिए आवेदन करें‘ इस विकल्प पर click करें।

    (ii) इसके बाद आपके सामने एक नयी screen आ जाएगी जिस पर आपको तमाम जानकारी भरनी होगी। आप यहाँ आवेदक का नाम, पिता का नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल, पता सभी जानकारी भर दें।

    Namantaran apna khata

    (iii) अब आप नीचे दिए गए जिले के विकल्प पर click करें और जिस जिले मे नामांतरण के लिये आवेदन करना चाहते है उस जिले को चुने। फिर तहसील का विकलप दिखाई देगा यहाँ से तहसील चुन लें और फिर ऐसे ही गाँव का चुनाव कर लें।

    (iv) इतना कुछ कर लेने के बाद आपको नामांतरण के लिए किस प्रकार का आवेदन करना चाहते हैं इस विकल्प पर आना है और अपना एक विकल्प चुनना है। इसके बाद आपको स्क्रीन पर एक option दिखाई देगा जो की इस प्रकार होगा – ”नामांतरण खोलने के लिए आवश्यक संलग्न दस्तावेज़” इसके पास दिए ‘आगे चले’ बटन पर आप click करें।

    Namantaran step 4

    (v) अब आपके सामने एक विकल्प आएगा जहाँ से आपको खाता की जानकारी है या नहीं ये बताना होगा। अगर आपको खाते की जानकारी है तो आप ‘हाँ’ पर click करके अपना खाता नंबर डाल सकते हैं। अगर जानकारी नहीं है तो आप ‘नहीं’ पर क्लिक कर दें जिसके बाद यह आप से खसरा नंबर मांगेगा।

    (vi) सभी जानकारी भर लेने के बाद Send OTP बटन पर click करें। इसके बाद आपके मोबाइल पर एक Sms आएगा। अब इस OTP को दिए गए स्थान पर भरें और आवश्यक दस्तावेज upload करें।

    (vii) दस्तावेजों को upload कर लेने के बाद आपको ‘सुरक्षित करे‘ लिखे बटन पर क्लिक करना है और आपकी नामांतरण का आवेदन सफलतापूर्वक स्वीकार कर लिया जायेगा।

     

    3. प्रतिलिपि शुल्क | Copy fee

    इस विकल्प पर जा कर आप समस्त प्रतिलिपि को डाउनलोड करने (नकल निकालने) का जो शुल्क है वो देख सकते हैं। आपको बता दें ये शुल्क इस प्रकार है –

    क्र.सं.
    अभिलेख का नाम

    परिमाण

    शुल्क
    1 जमाबंदी प्रतिलिपि 10 खसरा नं. तक
    प्रत्येक अतिरिक्त 10 खसरा नं. या उसके भाग के लिये
    10.00 रू.
    5.00 रू.
    2
    नक्शा प्रतिलिपि
    प्रत्येक 10 खसरा नं. या उसके भाग के लिये 20.00 रू.
    3
    नामांतरण पी21
    प्रत्येक नामांतरण के लिये 20.00 रू.

     

    4. नामांतरण की स्थिति | Status of Namantran

    E dharti पोर्टल पर मौजूद इस विकल्प पर जा कर आप वर्तमान दिनांक तक किए गए सभी नामंतरण के आंकड़े देख सकते हैं। नामांतरण के ये आंकड़े जिलों के अनुसार दिए गए हैं। जिसमें जिला का नाम, कुल नामांतरण, नामांतरण निर्णीत, निर्णित औसत दिन, निर्णीत मध्य दिन यह सभी जानकरी मौजूद हैं।

     

    5. ई-मित्र लॉगिन | E-Mitra Login

    अधिकृत कियोस्क उपयोगकर्ता (Kiosk User) ई धरती पोर्टल (Apna khata) पर सीधे लॉगिन भी कर सकते हैं। इसके लिए वेबसाइट के मुख्या पेज पर ही ई-मित्र लॉगिन के नाम से ही विकल्प मौजूद है। इस पर click करने के पश्चात आपके सामने एक अन्य login window popup खुलेगा जिस पर आप अपनी Kiosk details जैसे कि उपयोग कर्ता का नाम, पासवर्ड डालकर लॉगिन कर सकते हैं।

     

    अपना खाते में जिलों की सूची | Apna Khata District List

    अपना खाता वेबसाइट पर जमाबंदी देखने से पहले प्रश्न ये उठता है की इस पर कौन कौनसे जिलों की जमाबंदी देख सकते हैं। तो आपको बता दें की दोस्तों यहाँ पर राजस्थान के सभी जिलों के भूलेख की जानकारी उपलब्ध है।

    कुछ समय पहले तक कुछ जिलों की जमीन का डिजिटलीकरण ना हो पाने के कारण उन्हें अपना खाता पर नहीं दर्शाया गया था परन्तु अब राजस्थान के सभी 33 जिले अपना खाता (E dharti) पोर्टल पर मौजूद हैं। इन जिलों की सूची आप नीचे भी देख सकते हैं

    बाँसवाड़ा डूंगरपुर प्रतापगढ़
    चित्तौरगढ़ उदयपुर राजसमंद
    सिरोही भीलवाड़ा पाली
    जालोर अजमेर जोधपुर
    बाड़मेर नागौर जैसलमेर
    बीकानेर श्री गंगानगर हनुमानगढ़
    चूरू झुंझुनू सीकर
    अलवर जयपुर भरतपुर
    दौसा टोंक धौलपुर
    करौली सवाई बूंदी
    बाराँ कोटा झालावाड़

     

    जमीन से जुड़ी जानकारी के लिए सहायता नंबर | Apna Khata Helpline Number

    अगर आपको अपने भूलेख से जुड़ी जानकारी नहीं मिल पा रही है या जानकारी गलत लग रही है या यदि आपको अन्य किसी प्रकार की जनकारी अथवा सहायता चाहिए तो आप राजस्व मंडल (राजस्थान) से संपर्क कर सकते हैं। इसका पता व फोन नंबर नीचे दिया गया है।

    पता : राजस्व मण्डल राजस्थान, टोडरमल मार्ग, सिविल लाईन, अजमेर

    फोन : 0145 2627891

    इसके अलावा आप राजस्व मण्डल राजस्थान की Official Website पर जा कर भी सहायता ले सकते हैं। बता दें कि यहाँ पर भी तमाम अधिकारीयों के नंबर मौजूद हैं जिन्हें देखने के लिए आप यहाँ क्लिक करें : Land Revenue department Phone numbers

     

    कुछ सवाल-जवाब | FAQ about E Dharti Portal

     

    E Dharti और Apna Khata में क्या अंतर है?
    Apna Khata पोर्टल को ही E Dharti भी कहा जाता है। दोनों एक ही बात है। अपना खाता पोर्टल पर जमीन के रिकॉर्ड यानी कि धरती के रिकॉर्ड का डिजिटलीकरण किया गया है इसलिए इसे ई धरती कहा गया है।
    खसरा और खतौनी क्या है?
    खसरा भारत में उपयोग किया जाने वाला एक कानूनी कृषि दस्तावेज है जो भूमि और फसल के विवरण को निर्दिष्ट करता है। जबकि खतौनी एक गाँव के खसरा पर आधारित एक सार है जो उस गाँव में किसी व्यक्ति या परिवार की सभी जोतों को सूचीबद्ध करता है।
    अपना खाता नकल, खसरा जमाबंदी नकल कैसे देखें?
    अपना खाता नकल या जमाबंदी की कॉपी निकालने के लिए सबसे पहले E dharti Apna khata पोर्टल पर जाएँ। इसके बाद अपने जिले, तहसील व गाँव का चयन करें तत्पश्चात अपनी जानकारी भरें और इसके बाद आप अपनी जमाबंदी की नकल देख सकते हैं।
    क्या Apna khata पर प्रतिलिपि निकालने के पैसे लगते हैं?
    अपना खाता पर जमाबंदी और नक्शा देखना एकदम मुफ्त है परन्तु अगर आप इसकी प्रतिलिपि निकालते हैं तो इसका शुल्क आपको देना होगा जो कि जमाबंदी के लिए 10 रुपये एवं नक्शा प्रतिलिपि के लिए 20 रुपये है।

    Related articles

    Comments

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Newsletter

    Subscribe to stay updated.

    Popular articles

    Share article